भाजपा नेताओं ने सुशासन दिवस के रूप में मनाई भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी की जयंती

भाजपा नेताओं ने सुशासन दिवस के रूप में मनाई भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी की जयंती

– देश के नागरिक होने के नाते कुछ दायित्वों का पालन व्यक्तिगत रूप से करना चाहिए – विनोद पाण्डेय

सनशाइन समय बस्ती से मनीष मिश्र की रिपोर्ट

बस्ती। सोमवार को भारतीय जनता पार्टी द्वारा भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती सुशासन दिवस के रूप में मनाई गया। इस अवसर पर मुख्य वक्ता विनोद पाण्डेय ने कहा कि समाज, समुदाय या देश के नागरिक होने के नाते कुछ दायित्वों का पालन व्यक्तिगत रूप से करना चाहिए, ये भारत के नागरिकों के लिए आवश्यक है कि वो वास्तविक अर्थो में आत्मनिर्भर बनें, ये देश के विकास के लिए बहुत आवश्यक है। यह तभी संभव हो सकता है, जब देश में अनुशासित, समय के पाबंद, कर्तव्यपरायण और ईमानदार नागरिक हों।
कार्यक्रम की शुरुआत अटल जी की तस्वीर पर द्वीप प्रज्जवलन और माल्यार्पण द्वारा की गई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सांसद हरीश द्विवेदी, मुख्यवक्ता किसान मोर्चा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष विनोद पाण्डेय एवं अध्यक्षता पूर्व प्रधानाचार्य मार्कण्डेय सिंह ने किया। मंच पर पूर्व जिलाध्यक्ष पवन कसौधन, प्रेम सागर तिवारी, सुशील सिंह, यशकांत सिंह, राजेन्द्र नाथ तिवारी, दयाशंकर मिश्र, संजय चौधरी, गोपेश्वर त्रिपाठी।
सांसद हरीश द्विवेदी ने कहा कि हमारा देश प्रगति के पथ पर अग्रसर है। भारत विश्व की उभरती आर्थिक ताकत के रूप में उभर रहा है। यह देश के नए नजरिये, उदारवादी अर्थनीति, उद्यमशीलता के अलावा लोगों के समन्वित प्रयास व उत्साह का नतीजा है। भारत में विदेशी पूंजी निवेश बढ़ रहा है। देश इंफ्रास्ट्रक्चर और सेवा-सुविधाओं के मामले में आगे बढ़ रहा है, जिसका कारण श्रेष्ठ नेतृत्व है। आदरणीय अटल जी के द्वारा जो सुशासन और उन्नत देश की नींव रखी गई है उसको देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगे लेकर जा रहे है। हम सभी आज सुशासन की शपथ लेते है और देश के विकास में भागीदारी भी हर संभव सहयोग करेंगे।
जिलाध्यक्ष विवेकानन्द मिश्र ने अटल जी के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहाँ की जो पौधा भारतीय जनता पार्टी के रूप में उन्होंने लगाया आज वह वटवृक्ष बन चुका है। हमें उनके जीवन से प्रेरणा मिलती है।
कार्यक्रम का संचालन प्रत्युष विक्रम सिंह ने किया।
इस मौके पर राम श्रृंगार ओझा, गजेंद्र सिंह, रघुनाथ सिंह, प्रमोद पाण्डेय, भानु प्रकाश मिश्र, अमृत कुमार वर्मा, अभिषेक कुमार, जटा शंकर शुक्ल, रोली सिंह, शालिनी मिश्र, अनूप खरे, अश्वनी उपाध्याय, विनोद शुक्ल, सुनील गुप्ता, दिलीप पाण्डेय, कुन्दन वर्मा, इंद्रजीत चौहान, दिग्विजय सिंह राणा, सुरेन्द्र तिवारी, अभिषेक सिंह, दिवाकर सोनी, सुखराम गौड़, अवनीश सिंह, अरविन्द श्रीवास्तव गोला, परमेश्वर शुक्ल पप्पू, सोनू पाण्डेय, बब्बू खान, जॉन पाण्डेय, श्रुति कुमार अग्रहरी, सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *