भाई ने भाई के साथ बैठकर पी शराब, जायदाद के लिए कर दी भाई की नशे में हत्या, अभियुक्त गिरफ्तार

भाई ने भाई के साथ बैठकर पी शराब, जायदाद के लिए कर दी भाई की नशे में हत्या, अभियुक्त गिरफ्तार

रिपोर्ट जितेंद्र कुमार अपराध संवाददाता सनशाइन समय

बस्ती। अनीता पत्नी श्याम सूरत निवासिनी ग्राम पिनेसर थाना हर्रैया जनपद बस्ती द्वारा थाना स्थानीय पर प्राप्त सूचना कि मेरे जेठ राममूरत पुत्र टेकई उर्फ रामाकान्त कि मृत्यु हो गई हैं, के लिखित प्रा0 पत्र के आधार पर तत्काल थाना हर्रैया जनपद बस्ती बनाम अज्ञात मुकदमा पंजीकृत करके पंचायतनामा की कार्यवाही की गयी, जिसमे मृतक राममूरत के सिर में चोट लगने के कारण मुत्यु होना पाया गया। उक्त मुकदमे के सफल अनावरण हेतु प्रभारी निरीक्षक हरैया राणा देवेन्द्र प्रताप सिंह के नेतृत्व में 02 टीमें गठित की गयी। घटना का सफल अनावरण करते हुए प्रभारी निरीक्षक हर्रैया राणा देवेन्द्र प्रताप सिंह मय टीम एवं SOG टीम के अथक प्रयास से मुकदमा उपरोक्त से सम्बन्धित वांछित अभियुक्त श्यामसूरत पुत्र रमाकान्त उर्फ टेकई ग्राम पिनेसर थाना हर्रैया जिला बस्ती को तपसीधाम पिनेसर मोड के पास गिरफ्तार किया गया एवं अभियुक्त श्यामसूरत उपरोक्त की निशानदेही पर घटना मे प्रयुक्त आलाकत्ल लकड़ी की मुगडी बरामद की गयी तथा आवश्यक कार्यवाही करते हुए न्यायिक रिमाण्ड हेतु न्यायालय रवाना किया गया।
बताते चले प्रभारी निरीक्षक हर्रैया राणा देवेन्द्र प्रताप सिंह मय हमराही पुलिस बल के क्षेत्र में मौजूद था कि हत्या की घटना के अनावरण हेतु गठित टीम के उ0नि0 राकेश कुमार मिश्र मिले, जिनसे मुकदमा उपरोक्त के वांछित अभियुक्त श्यामसूरत के बारे में वार्ता की जा रही थी। इतने में सूचना मिली कि मुकदमा धारा 302 IPC का वांछित अभियुक्त श्यामसूरत पुत्र रमाकान्त उर्फ टेकई ग्राम पिनेसर थाना हर्रैया जिला बस्ती, जिसने अपने भाई राममूरत की जमीन जायदाद के लिए हत्या कर दी और गिरफ्तारी से बचने के लिए छिप कर रह रहा है, आज तपसीधाम पिनेसर मोड पर मौजूद है और कही भागने वाला है। इस सूचना पर प्रभारी निरीक्षक मय पुलिस बल के उक्त स्थान पर पहुँचकर देखा कि एक व्यक्ति पुलिस बल को अचानक से देखकर भागना चाहा कि घेर घार कर उस व्यक्ति को पकड़ लिया गया। पकड़े जाने पर भागने का कारण व नाम पता पूछने पर उसने अपना नाम श्यामसूरत पुत्र रमाकान्त उर्फ टेकई निवासी पिनेसर थाना हर्रैया जिला बस्ती बताया तथा हिकमत अमली से पूछताछ करने पर बताया कि साहब मैं तथा मेरा भाई राममूरत दोनो शराब का नशा करते थे। मेरा भाई राममूरत बाहर रहता था। मेरे पिता जी की मृत्यु हो गयी, जिसके बाद मेरा भाई घर आया और मेरे चाचा घिराऊ के पास रहने लगा। पिता की मृत्यु के बाद जमीन वरासत मे हम दोनो भाईयो को मिली और पिताजी की कुल 08 विस्वा जमीन थी, जिसमे 04 विस्वा ही राममूरत का हिस्सा था लेकिन उसने अपने हिस्से के बाद भी 01 विस्वा जमीन अधिक बेच दिया। मेरे दादी जूगुरा देवी की जमीन भी वरासत में हम लोगो को मिलने वाली थी और राममूरत उसे भी बेचने के फिराक में था। अपनी जमीन के साथ साथ वह मेरे हिस्से की भी जमीन बेच कर पैसा ले ले रहा था, तो मैने लालचवश उसको अपने रास्ते से हटाने का निर्णय लिया, जिसके बाद मैने उसे मारने का प्रयास किया था लेकिन वह बच गया था, लेकिन मुझ डर था कि वह इसी तरह अपने हिस्से की जमीन के साथ-साथ मेरे हिस्से की जमीन भी बेच देगा तथा इसके मरने से जो जमीन इसने मेरे हिस्से का बेचा है एवं राममूरत की बाकी जमीन और मकान भी मुझे वरासत मे मिल जायेगी तो उसको मैने रास्ते से हटाने के लिए उसके साथ बैठ कर शराब पिया जहाँ पर जमीन जायदाद को लेकर हम लोगो मे विवाद हो गया और वही घर मे मौजूद लकडी की मुगडी से जमीन जायदाद के लालचवश उसके सर पर तकिया रख कर वार कर दिया, जिससे उसकी मृत्यु हो गयी। मैंनें अपने आपको घटना से बचाने के लिए बिना किसी को बताये अपने ससुराल चला गया था। वहां से बार – बार फोन कर जानकारी करने का प्रयास करता रहा लेकिन जब किसी के द्वारा राममूरत के मृत्यु के बारे मे कोई जानकारी नही मिली तो अगले दिन मै स्वयं घर वापस आया और मोहल्ले वालो को बताया कि उसकी मृत्यु हो गयी है, जिसके बाद 112 पर पुलिस को सूचना दिया। अभियुक्त की निशानदेही पर घटना मे प्रयुक्त आलाकत्ल लकड़ी की मुगडी ग्राम पिनेसर स्थित उसके घर के एक कमरे मे रखे भूसे मे से बरामद किया गया। प्रभारी निरीक्षक राणा देवेन्द्र प्रताप सिंह मय गठीत टीम द्वारा परिस्थितीजन्य साक्ष्यों, पीएम रिपोर्ट, पंचायतनामा, फोरेंसिक साइन्स के विधियों तथा तमामी जांच व तफ्तीश एवं अथक परीश्रम से घटना का सफल अनावरण करते हुए शातिराना अंदाज से घटना घटित कर अभियुक्त द्वारा अपने बचने के तमाम तरकीब को विफल करते हुए अभियुक्त श्यामसूरत को गिरफ्तार कर मामले का पटाक्षेप किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *