कमिश्नर ने की कानून व्यवस्था, राजस्व एवं कर करेत्तर की समीक्षा बैठक, भू-माफिया चिन्हित करने के निर्देश

कमिश्नर ने की कानून व्यवस्था, राजस्व एवं कर करेत्तर की समीक्षा बैठक, भू-माफिया चिन्हित करने के निर्देश

– भू-मापी कराने तथा पत्थर लगाने के बाद यदि कोई उखाडता है तो होगी कार्यवाही- कमिश्नर

– पुलिस अधिकारी मौके पर जाकर ले जायजा, केवल सुनी-सुनाई बातों पर न करें विश्वास – आईजी

सनशाइन समय बस्ती से मनीष मिश्र की रिपोर्ट

बस्ती। भू-माफिया चिन्हित करने के लिए मण्डलायुक्त अखिलेश सिंह ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित किया है। उन्होने कहा है कि भूमि संबंधी विवादों के निस्तारण में सतर्कता बरतें तथा तेजी लायें, जिससे की कानून व्यवस्था बनी रहें। कानून व्यवस्था, राजस्व एवं कर करेत्तर की समीक्षा बैठक में उन्होने कहा कि तहसील द्वारा भू-मापी कराने तथा पत्थर लगाने के बाद यदि कोई व्यक्ति उसे उखाडता है या दूसरे पक्ष को धमकाता है तो उस पर भू-माफिया की कार्यवाही की जाय। ऐसे मामलों में यदि किसी को आपत्ति है तो वह कानूनी प्रक्रिया अपना सकता है, लेकिन कानून व्यवस्था का उल्लघंन किसी भी दशा में बर्दाश्त नही किया जायेंगा।
उन्होने कहा कि सीमांकन एवं नक्शादुरूस्ती के मामलों में सबसे पहले नक्शों का मिलान किया जाय, फील्डबुक तैयार की जाय। उन्होने इस संबंध में लेखपाल, कानून गो एवं नायब तहसीलदारों का प्रशिक्षण कराने का भी निर्देश दिया है। उन्होने कहा कि आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त होने वाले भूमि संबंधी मामलों के निस्तारण के लिए मानक प्रक्रिया निर्धारित करें।
कावड़ यात्रा के सकुशल समापन होने पर उन्होने सभी प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को बधाई भी दिया। उन्होने कहा कि अवैध अतिक्रमण पाये जाने पर संबंधित लेखपाल की जिम्मेदारी तय करें। तालाब, खलिहान एवं सार्वजनिक भूमि पर किसी प्रकार का अतिक्रमण स्वीकार नही किया जायेंगा। उन्होने स्वामित्व योजना के अन्तर्गत सर्वे कार्य पूर्ण कराने तथा मानचित्र समय से दुरूस्त कराने का निर्देश दिया। उन्होने कहा कि तैयार घरौनी का वितरण कराया जाय। आनलाइन क्राप सर्वे के कार्य में तेजी लायी जाय।
उन्होने कर करेत्तर एवं राजस्व वसूली की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि विभागीय अधिकारी मासिक एवं वार्षिक लक्ष्य पूरा करें। वाणिज्यकर विभाग जीएसटी की प्राप्ति के लिए बड़े व्यापारियों, मैरेजहाल एवं कैटरर्स पर भी ध्यान केन्द्रित करें। आबकारी विभाग दुकानों की जॉच सुनिश्चित करके ओवररेटिंग पर रोक लगायें। परिवहन विभाग प्रवर्तन कार्य में तेजी लाये। विद्युत विभाग बड़े बकायेदारों से वसूली सुनिश्चित करें। उन्होने स्टाम्प एवं रजिस्टेªशन, खनन, वन, मण्डी परिषद, खाद्य सुरक्षा, औषधि प्रशासन के राजस्व प्राप्ति की समीक्षा किया।
आईजी आर.के. भारद्वाज ने कहा कि पुलिस अधिकारी मौके पर जाकर स्थिति का जायजा अवश्य लें केवल सुनी-सुनाई बातों पर विश्वास ना करें। उन्होने कहा कि दुर्गापूॅजा महोत्सव की अभी से तैयारी प्रारम्भ कर दें। सुनिश्चित करे कि सड़क पर प्रतिमा ना बैठायी जाय, पांडाल का द्वार भी सड़क की ओर ना रखा जाय, कोई नयी परम्परा ना शुरू की जाय। इस संबंध में दुर्गापूॅजा समितियों के पदाधिकारियों से थानावार बैठक समय से कर ली जाय।
बैठक का संचालन अपर आयुक्त प्रशासन राजीव पाण्डेय ने किया। बैठक में जिलाधिकारी बस्ती प्रियंका निरंजन, सिद्धार्थनगर के संजीव रंजन, संतकबीर नगर के संदीप कुमार, पुलिस अधीक्षक बस्ती गोपाल कृष्ण चौधरी, सिद्धार्थनगर के ए.के. अग्रवाल, संतकबीर नगर के सत्यजीत गुप्ता, एडीएम कमलेश चन्द्र, उमाशंकर एवं जयप्रकाश, डीएफओ नवीन कुमार शाक्य, डीसी वाणिज्यकर प्रभाकर सरोज, डीआईजी स्टाम्प आन्नद प्रकाश मिश्रा, आरटीओ रविकान्त शुक्ला, उप निदेशक मण्डी परिषद ज्योति यादव, अधीक्षण अभियन्ता विद्युत रामदास, आबकारी अधिकारी राजेश त्रिपाठी, सहायक आयुक्त खाद्य विनित कुमार पाण्डेय, प्रशासनिक अधिकारी संतोष कुमार पाण्डेय उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *