डीएम ने बैंक समन्वय समिति की बैठक को किया सम्बोधित, अभियान चलाकर किसानों को दे ऋण

डीएम ने बैंक समन्वय समिति की बैठक को किया सम्बोधित, अभियान चलाकर किसानों को दे ऋण

सनशाइन समय बस्ती से मनीष मिश्र की रिपोर्ट

बस्ती। जिलाधिकारी अंद्रा वामसी ने अभियान चलाकर किसानों को कृषि ऋण वितरण करने के लिए बैंक अधिकारियों को निर्देश दिया है। उन्होने जिला कृषि अधिकारी को निर्देश दिया कि ब्लाकवार किसानों की सूची बैंक को उपलब्ध करा दें। कलेक्ट्रेटे सभागार में आयोजित जिला विभागीय बैंक समन्वय समिति की बैठक को सम्बोधित करते हुए निर्देश दिया कि फील्ड आफिसर क्षेत्रीय भ्रमण करके अधिक से अधिक किसानों को के.सी.सी. फार्म भरवायें। समीक्षा में उन्होने पाया कि कृषि क्षेत्र में रू0 232486 लाख के सापेक्ष रू0 45857 लाख मात्र 19.72 प्रतिशत ऋण दिया गया है। वर्ष 2022 में इसी अवधि में 43.32 प्रतिशत कृषि ऋण दिया गया है।
जिलाधिकारी ने जिला सहकारी बैंक द्वारा लक्ष्य के अनुरूप ऋण वसूली ना करने पर असंतोष व्यक्त किया तथा सभी 14 शाखा प्रबंधको का अग्रिम आदेशों तक वेतन रोकने का निर्देश दिया है। उन्होने कहा कि प्रतिदिन वसूली की रिपोर्ट प्रेषित करें। उन्होने निर्देश दिया कि 40 प्रतिशत से कम सी.डी. रेसियों वाले बैंक अपनी कार्ययोजना प्रस्तुत करें।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि समूहों का लम्बित 374 खाता तीन दिन में उपलब्ध करायें। उन्होने निर्देश दिया कि पी.एम. स्वनिधि योजना में प्रथम एवं द्वितीय ऋण की क्लोजर रिपोर्ट समय से करें। प्रथम में 67 तथा द्वितीय में 99 खाते लम्बित है। उन्होने निर्देश दिया है कि एन.पी.ए. मामले की सूची बैंक आफ इण्डिया, इण्डियन बैंक, पंजाव नेशनल बैंक, यूनियन बैंक, बैंक आफ इण्डिया, बैंक आफ महाराष्ट्रा, आईडीबीआई, जिला सहकारी बैंक तथा एलडीबी बैंक तलब किया है ताकि वसूली की जा सकें।
उन्होने सरफेसी की समीक्षा करते हुए पाया कि रू0 1032 लाख की 26 पत्रावली लम्बित है। उन्होने सभी बैंको से वसूली के लिए सभी मामलों में सरफेसी की पत्रावली उनके कोट में प्रस्तुत करें। उन्होने समीक्षा में पाया कि 4 लाख किसानों में से 40 हजार किसानों ने ही फसल का बीमा कराया है। उन्होने निर्देश दिया कि अभियान चलाकर 31 दिसम्बर तक फसल का बीमा कराने की अपील किया है। उन्होने कृषि अधिकारी एवं बैंकर्स को इसका अभियान चलाने का निर्देश दिया है।
उन्होने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, राष्ट्रीय शहरी आजीविका, पी.एम. स्वनिधि योजना, पशुधन किसान क्रेडिट कार्ड एवं मत्स्य क्रेडिट कार्ड, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, ओडीओपी, दीनदयाल अन्त्योदय योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया है।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी जयदेव सीएस, उप निदेशक कृषि अशोक गौतम, डीडीएम नाबार्ड, एलडीएम आर.एन. मौर्या, परियोजना निदेशक राजेश झा, मत्स्य अधिकारी संदीप वर्मा, पशुचिकित्साधिकारी डा. अमर सिंह, विधायक प्रतिनिधि गुलाब सोनकर, हरीश सिंह, फूलचन्द्र श्रीवासतव, सभी बैंको के जिला समन्वयक तथा विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *