डीएम ने राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के मद्देनजर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षात्मक उपाय सुदृढ़ करने के दिए निर्देश

डीएम ने राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के मद्देनजर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षात्मक उपाय सुदृढ़ करने के दिए निर्देश

सनशाइन समय बस्ती से मनीष मिश्रा की रिपोर्ट

बस्ती। आगामी 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के मद्देनजर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षात्मक उपाय सुदृढ़ करने के लिए जिलाधिकारी अन्द्रा वामसी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर मरम्मत तथा साइनेज लगाने का कार्य समय से पूरा कर लिया जाए। छावनी फ्लाईओवर पर दोनों तरफ सुरक्षात्मक उपाय करते हुए साइनेज लगाए जाएं ताकि किसी प्रकार की दुर्घटना की संभावना न रहे। उन्होंने यहां पर जाम की स्थिति से भी बचने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि टांडा मार्ग पर सरयू पुल के पास भी सुरक्षात्मक उपाय किए जाएं ताकि किसी प्रकार की दुर्घटना की आशंका न रहे।
उन्होंने कहा कि अवैध कट पूरी तरह से बंद किए जाएं। साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग पर आकर मिलने वाली सभी सड़कों का सुरक्षात्मक उपाय सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि कप्तानगंज, मनौरी तथा पटेल चौराहे पर रंबलिंग स्ट्रिप लगाई जाए ताकि किसी प्रकार की दुर्घटना से बचाव हो सके। सभी 25 ब्लैक स्पॉट पर राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा सुधार की कार्यवाही पूर्ण किए जाने पर उनके द्वारा संतोष व्यक्त किया गया। समीक्षा में उन्होंने पाया कि नवंबर माह में 47 दुर्घटनाएं हुई है, इसके संबंध में पुलिस एवं राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा संयुक्त निरीक्षण करते हुए चिन्हित स्थानों पर आवश्यक सुधार किया गया।
जिलाधिकारी ने समीक्षा में पाया कि सड़क सुरक्षा से संबंधित अन्य प्रवर्तन कार्यों बिना लाइसेंस के वाहन चलाना, अंडर एज ड्राइविंग, रेट्रो रिफ्लेक्टिव टेप न होने, स्कूली वाहन मानक के अनुरूप न पाए जाने, बिना फिटनेस वाहन का संचालन, व्यावसायिक वाहनों में स्पीड लिमिट डिवाइस का न होने मामलों में कुल 109 चालान किया गया है। चिकित्सा विभाग की समीक्षा में डिप्टी सीएमओ डॉ. एसबी सिंह ने बताया कि 10 बेड के ट्रामा सेंटर के लिए निदेशालय को पत्र भेजा गया है। दुर्घटना में घायल व्यक्तियों को इलाज के लिए जिला अस्पताल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर बेड की व्यवस्था की गई है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि दुर्घटना में घायल व्यक्तियों के इलाज के लिए तीन-तीन बेड प्रत्येक अस्पताल में आरक्षित रखें।
बैठक का संचालन अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी केशव लाल ने किया। इसमें सीडीओ जयदेव सीएस, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट शाहिद अहमद, आरटीओ रविकांत शुक्ला, डीआईओएस जगदीश शुक्ला, एआरटीओ पंकज सिंह, बीएसए अनूप कुमार, सीओ विनय सिंह चौहान, टीएसआइ कामेश्वर सिंह, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. अमर सिंह, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण तथा राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारी तथा विभागीय अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *