राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य ने की अधिकारियों के साथ समीक्षा, दिए आवश्यक निर्देश

राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य ने की अधिकारियों के साथ समीक्षा, दिए आवश्यक निर्देश

सनशाइन समय बस्ती से मनीष मिश्रा की रिपोर्ट

बस्ती। राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य श्याम त्रिपाठी ने सर्किट हाउस सभागार में विभागीय अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला, चाइल्ड लाइन, नारकोटिक्स कंट्रोल, दिव्यांग पेंशन, नशामुक्ति जागरूकता अभियान सहित अन्य बिन्दुओं पर गहन समीक्षा किया। उन्होने कहा कि विद्यालयों के 100 मीटर की परिधि में कोई भी मादक पदार्थ ना बिकने पायें और श्रम विभाग द्वारा समय-समय पर अभियान चलाया जाय कि दुकानों पर बाल श्रम ना होने पाये। उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री बाल सेवा योजनान्तर्गत जनपद में 233 तथा पीएम केयर के 5 बच्चों को लाभ दिया गया है।
उन्होने बताया कि एक युद्ध नशें के विरूद्ध के तहत प्रत्येक स्कूलों में प्रहरीक्लब रखे जाय। उन्होने आबकारी अधिकारी को निर्देशित किया कि मदिरा की दुकाने निर्धारित मानक के अनुसार ही संचालित हो तथा वहॉ पर कैमरे भी लगवाये जाय और समय-समय पर इसकी मानीटरिंग की जाय। उन्होने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया है कि मेडिकल स्टोरों पर किसी प्रकार की नशीली दवायें ना बिकने पाये और मानक के अनुसार ही दवाओं का खरीद हो तथा एचएनएक्स के अन्तर्गत दवाओं के मेडिकल स्टोरों पर कैमरे की व्यवस्था की जाय तथा दवा बेचने वाले कम्प्यूटर से बिल दे रहे है या नही सुनिश्चित किया जाय।
उन्होेने जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिया कि कोई भी बच्चा कुपोषित ना हो, इस पर विशेष ध्यान दिया जाय। उन्होने संबंधित अधिकारियों से कहा कि नशामुक्ति जागरूकता अभियान में डाक्टर, एमओआईसी, अध्यापक, एडीओ पंचायत, बीडीओ, सीडब्लूसी एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी संयुक्त रूप से अपने स्तर से जागरूकता फैलायें। उन्होने समाज कल्याण अधिकारी से कहा कि सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न जन कल्याणकारी योजना का लाभ प्रत्येक पात्र व्यक्ति को अवश्य मिलें। इस दौरान उन्होने कोविड से अपने माता-पिता को खोने वाले अनाथ बच्चों से वार्ता किया और उनको मिल रहे सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त किया।
बैठक में सीएमओ डा. रमा शंकर दुबे, बीएसए अनूप तिवारी, आबकारी अधिकारी राजेश तिवारी, समाज कल्याण अधिकारी श्रीप्रकाश पाण्डेय, जिला प्रोबेशन अधिकारी, परियोजना निदेशक डूडा, सीडब्लूसी के अध्यक्ष प्रेरक मिश्रा सहित संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहें।
इसके पूर्व राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य श्याम त्रिपाठी ने जिला कारागार, विकास खण्ड बहादुरपुर में आगनबाड़ी केन्द्र, कस्तूरबॉ गॉधी बालिका विद्यायल का औचक निरीक्षण किया। उन्होने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। निरीक्षण के दौरान संबधित अधिकारीगण उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *