होटल, ढाबा, सब्जी मंडी या सब्जी की दुकानों के सामने जानवर पाए जाने पर मिलेगा नोटिस- डीएम

होटल, ढाबा, सब्जी मंडी या सब्जी की दुकानों के सामने जानवर पाए जाने पर मिलेगा नोटिस- डीएम

सनशाइन समय बस्ती से मनीष मिश्र की रिपोर्ट

बस्ती। होटल, ढाबा, सब्जी मंडी या सब्जी की दुकानों के सामने जानवर पाए जाने पर मालिकों को नोटिस जारी करने के लिए जिलाधिकारी अंद्रा वामसी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित विशेष गो संरक्षण अभियान की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि खुले में खाने का सामान फेंकने से जानवर वहां पर एकत्र होते हैं। इसके लिए सभी होटल, ढाबा, सब्जी की दुकान वालों को चेतावनी दी जाती है कि उनके विरुद्ध नोटिस जारी करके जुर्माना लगाया जाएगा तथा सुधार न होने पर एफआईआर भी कराई जाएगी। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया है कि गोशालाओं के सभी नोडल अधिकारी प्रत्येक पखवाड़े गौशालाओं का निरीक्षण करेंगे तथा अपनी रिपोर्ट पशुपालन विभाग को उपलब्ध कराएंगे।
उन्होंने पशुपालन विभाग से कहा है कि शास्त्री चौक से रोडवेज तक तथा फौब्वारा चौराहा से मालवीय रोड होते हुए स्टेशन रोड की तरफ अभी भी जानवर पाए जा रहे हैं। विशेष अभियान के अंतर्गत सभी जानवरों को पकड़कर गौशालाओं में संरक्षित करें। गोपालको को आगाह करें कि वह अपने जानवर खुले में ना छोड़े अन्यथा उनसे जुर्माना वसूल किया जायेंगा। जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री की सर्वाेच्च प्राथमिकता का यह कार्यक्रम है और इसमें किसी प्रकार की शिथिलता क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने निर्देश दिया है कि गौशालाओं में संरक्षित सभी पशुओं का टैगिंग सुनिश्चित कराएं, गौशालाओं की क्षमता के अनुसार पशुओं को वहां पर रखा जाए तथा प्रतिदिन का रजिस्टर मेनटेन किया जाए। पशुचिकित्सा अधिकारी नियमित रूप से गोशालाओं का निरीक्षण करे तथा बीमार पशुओं का इलाज सुनिश्चित करायें।
जनपद में संचालित गो संरक्षण केद्रों का सत्यापन करने वाले नोडल अधिकारियों से जिलाधिकारी ने गौशालाओं में संरक्षित पशुओं की संख्या, टैगिंग, भूसा व्यवस्था, ठंड से बचाव की स्थिति, तथा हरे चारे की उपलब्धता के बारे में जानकारी प्राप्त किया। नोडल अधिकारियों द्वारा बताया गया की कही-कही गो सेवकों का दो माह से भुगतान नहीं हुआ है। इस संबंध में उन्होंने डीपीआरओ को निर्देशित किया कि राज्य वित्त आयोग तथा मनरेगा के अंतर्गत पर्याप्त धन ग्राम पंचायत में उपलब्ध है। गोसेवकों का भुगतान किसी भी दशा में रुकना नहीं चाहिए। नोडल अधिकारियों ने बताया कि ठंड से किसी गोवंशीय पशु के मृत्यु की सूचना नहीं है। कहीं-कहीं कुछ बीमार पशु मिले हैं, जिनके इलाज के लिए निकट के पशु चिकित्सा अधिकारी को अवगत कराया गया है।
मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी डॉ. अमर सिंह ने बताया कि पिछले माह में नगर पालिका बस्ती में 200 पशुओं को पकड़कर गो संरक्षण केद्रो में रखा गया है। 1 नवंबर से संचालित अभियान में नगर क्षेत्र में 619 तथा ग्रामीण क्षेत्र में 1943 कुल 2562 गोवंश गौशालाओं में संरक्षित किए गए हैं। जनपद के सभी गौशालाओं में 16311 गोवंश संरक्षित है। बैठक में सीडीओ जयदेव सीएस, जॉइंट मजिस्ट्रेट शाहिद अहमद, पीडी राजेश झा, उपायुक्त मनरेगा संजय शर्मा, उपायुक्त स्वत रोजगार आशा देवी, उपनिदेशक कृषि अशोक गौतम, नोडल अधिकारी गण, खंड विकास अधिकारी तथा पशु चिकित्सा अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *