समाजवादियों ने जयन्ती पर चौधरी चरण सिंह को किया नमन्

समाजवादियों ने जयन्ती पर चौधरी चरण सिंह को किया नमन्

सनशाइन समय बस्ती से मनीष मिश्र की रिपोर्ट

बस्ती । पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को किसान दिवस के रूप में उनकी जयन्ती पर समाजवादी पार्टी कार्यालय पर शनिवार को याद किया गया।
चौधरी चरण सिंह के चित्र पर माल्यार्पण के बाद गोष्ठी को सम्बोधित को करते हुये विधायक राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि किसानों के मसीहा के रूप में लोकप्रिय चौधरीचरण सिंह को ऐसे समय पर याद किया जा रहा है जब देश के किसान चौतरफा समस्याओं से घिरा है, उनकी आवाजों को अनसुनी किया जा रहा है। चौधरी चरण सिंह सदैव किसान हितों के लिये संघर्ष करते रहे। उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि यही होगा कि किसान समृद्ध हों और उनकी मांगों को तत्परता से निराकरण कराया जाय। विधायक कविन्द्र चौधरी ‘अतुल’ ने कहा कि आज जब लोकतंत्र पर चौतरफा हमले हो रहे हैं, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रा पर खतरे हैं ऐसे में हमें चौधरी चरण सिंह से प्रेरणा लेनी होगी जिन्होने किसान हितों के लिये आजीवन संघर्ष करने के साथ ही उनकी आवाज बने।
पूर्व विधायक राजमणि पाण्डेय ने कहा कि किसान चरण सिंह को अपना मसीहा मानतेे हैं, उन्होंने कृषकों के कल्याण के लिए काफी कार्य किया। भ्रमण करते हुए कृषकों की समस्याओं का समाधान करने का प्रयास किया। ऐसे नेता विरले होते हैं जिन्हें किसानों का विश्वास हासिल होता है, चौधरी चरण सिंह ने किसान हितों के लिये जो कार्य किया, उन्हें सदैव याद किया जायेगा। समाजवादी चिन्तक चन्द्रभूषण मिश्र ने कहा कि चौधरी चरण सिंह सच्चे अर्थो में किसानों की मुखर आवाज थे। अध्यक्षता करते हुये जावेद पिण्डारी ने कहा कि नयी पीढी को चौधरी चरण सिंह के संघर्ष और योगदान से प्रेरणा लेनी चाहिये।
गोष्ठी को समीर चौधरी, मो. स्वालेह, अरविन्द सोनकर आदि ने सम्बोधित करते हुये चौधरी चरण सिंह के योगदान पर विस्तार से प्रकाश डाला। कहा कि देश को चौधरीचरण सिंह जैसे नेताओं की जरूरत है। देश और उत्तर प्रदेश का किसान घोर संकट का सामना कर रहा है।
पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को नमन् करने वालों में मुख्य रूप से विजय विक्रम आर्य, घनश्याम यादव, रामवृक्ष यादव, जैराज यादव, कैश मोहम्मद, भोला पाण्डेय, युनूस आलम, गोविन्द, लालजी चौधरी, विपिन त्रिपाठी, अवधेश मौर्य, चीनी चौधरी, इन्द्रावती शुक्ल, अजीत यादव, चिन्ता यादव, तूफानी यादव, सुशील यादव, अशोक यादव, गौरीशंकर यादव, अशोक चौहान, श्रवण कुमार, विनय कुमार, रामभवन यादव, रजवन्त यादव, रोहित कन्नौजिया, जगदीश यादव ‘शनि’ वृजभूषण यादव, पंकज निषाद, राजू सोनी, राजेन्द्र यादव आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *